Tag : #दादीनानीकीकहावतेंमुहावरे

गुड खाये गुलगुला से परहेज

प्लेट में सजे त्रिकोणाकार समोसे अपने अंदर कितना स्वाद भरे मूल्यांकन की प्रतीक्षा में थे। ठीक उसी तरह कजरी भी प्रतीक्षारत थी। दरवाजे...

Read More

मूल से ज्यादा ब्याज प्यारा लगता है

भगवान ने हर किसी को अलग अलग बनाया है .मुझे नहीं लगता दुनिया में कोई भी परफेक्ट है, हर किसी में अपनी अपनी एक खूबी है और एक कमी है.मेरी...

Read More