टैग : #मेरीप्रियपुस्तक

गौरा और स्त्रियों की स्थिति समाज में एक जैसी

बचपन में मैं महादेवी वर्मा की किताब "गौरा" पढ़कर पशु पक्षियों के वात्सल्य रस को जानकर बहुत प्रभावित हुई थी तो वहीं दूसरी तरफ भीतर तक मन एक घृणा से भर गया था कि इंसान अपने स्वार्थ में इतना अंधा हो जाता है कि वो इंसान तो इंसान एक...

और पढ़ें

हैप्पीनेस अनलिमिटेड- मेरी प्रिय पुस्तक

#ThePinkComrade#मेरीप्रियपुस्तक  मेरे मन में इतने सवाल चलते थे कि क्यों मेरी खुशी हर समय गायब हो जाती है किसी एक चीज को पा लेने के बाद फिर दोबारा मुझे ऐसी महसूसता क्यों होती है कि मैं दोबारा कोई चीज की इच्छा करने...

और पढ़ें