टैग : हमारी जोड़ी

उल्टी पड़ी शरारत #हमारीजोड़ी

बात उन दिनों की है जब हम पाँचवी कक्षा में थे और भाई चौथी में..गर्मी की छुट्टियाँ में नानी जी मौसी और उनके दो बच्चों सहित हमारे घर आईं हुई थी..एक दिन दोपहर में ..हम सबको खाना वाना खिलाने के बाद.. हमें नानी के सुपुर्द कर..मम्मी और...

और पढ़ें

बचपन वाला हलवा

आज जब बहन बहन की जोड़ी पर कुछ लिखने को मिला तो बचपन की कितनी ही घटनाएँ साकार हो गयीं। कितनी ऐसी शरारतें जो हमने साथ मिल कर कीं। हर घटना को बयान करने बैठूँ तो लिखते लिखते पूरा दिन गुजर जाये पर कुछ यादें जो अमिट हैं उनका जिक्र तो...

और पढ़ें

#एक डाली के फूल

बचपन में माँ से किसी ने पूछा आप पांचो बच्चों में से किसे ज्यादा प्यार करती हैं..। माँ का कहना था कि ये पांच उंगलियां हैं,.. कोई भी ऊँगली कटेगी तो दर्द होगा...। सभों बच्चों की सामान परवरिश की गई..। हमारे बीच वाले...

और पढ़ें

लौट कर आजाये तेरा मेरा बचपन

"हैलो दीदी!कैसी हो आप, क्या यार आजकल बात ही नहीं हो पाती ".. "हाँ यार ऋचु ! बस बच्चों के पेपर थे ना, समय ही नहीं मिल पाता. वो बचपन के दिन ही अच्छे थे यार काश तेरा मेरा बचपन फिर लौट आये ".... सच ही तो कह रही...

और पढ़ें