टैग : #bollywood tadka

"खून भरी मांग एक मां की कहानी

पहले के दौर में पिक्चर वीडियो पे देखा करतें थे। ये तब की बात है। जब में आठ वर्ष की थी। 1989 में ये पिक्चर वीडियो पे देखी थी।  खुन भरी मांग, आस्ट्लियाई मिनी सीरीज,"  रिटर्न टु ऐडन की रीमेक थी. जो 1988 की भारतीय...

और पढ़ें

जीवन का सही अर्थ बताती- 3 Idiots

जैसा कि हम सभी जानते हैं आजकल बच्चे अपने नंबरों को लेकर इतना ज्यादा परेशान होते हैं कि असफलता को स्वीकार कर ही नहीं पाते। लड़ ही नहीं पाते अपनी कमजोरियों से, अपनी पराजय से। हाल ही में कई प्रदेशों के बोर्ड रिजल्ट और समाचार पत्रों...

और पढ़ें

एम.एस.धोनी:द अनटोल्ड स्टोरी

मैं आज आपके सामने सुशांत सिंह राजपूत की एक बहुत ही उम्दा और अच्छी मूवी लेकर आई हूं, जिसका नाम है एम.एस.धोनी:द अनटोल्ड स्टोरी!! यह फिल्म नीरज पांडे के निर्देशन में बनी है | इस मूवी में सुशांत सिंह राजपूत ने क्रिकेटर महेंद्र सिंह...

और पढ़ें

जिंदगी ना मिलेगी दुबारा

दिलो में तुम अपनी बेताबियाँ लेके चल रहे हो तो जिंदा हो तुम , नज़र में ख्वाबों की बिजलियाँ लेके चल रहे हो तो जिंदा हो तुम ... हवा के झोंकों के जैसे आजाद रहना सीखो , तुम एक दरिया के जैसे लहरों में बहना सीखो ... हर एक...

और पढ़ें

पुरुष प्रधान समाज पर औरत का एक थप्पड़

 फिल्में तो बहुत सी है जो मेरी पसंदीदा रही है या यूं कहिए कि मैं फिल्मों की ही शौकीन रही हूं शुरू से। उन्हीं में से आज एक फिल्म के बारे में कुछ शब्द सांझा करना चाहूंगी। हाल ही में रिलीज हुई फिल्म थप्पड़,जिसने हम सभी स्त्रियों...

और पढ़ें

औरत ही मकान को घर बनाती है।

अमिताभ बच्चन इस दशक के महानायक हैं।उनके फैंस की संख्या लाखों हैं। मैं भी अमिताभ बच्चन की फैन हूं और मुझे उनकी फिल्में देखना बहुत पसंद है। आज मैं अस्सी के दशक में बनी उनकी एक फिल्म के बारे में बताना चाहूंगी जो 1982 में बनी थी। 1982...

और पढ़ें

हास्य द्वारा महत्वपूर्ण संदेश देती फिल्म 'तीन बहुरानियां'

आज मैं ,आपके समक्ष लेकर आई हूं 1968 में आई फिल्म तीन बहूरानियां। इस फिल्म को मैंने लॉकडाउन पीरियड में देखा था। सच मानो देखकर लगा ही नहीं ,यह इतने वर्षों पुरानी फिल्म है। इसका कारण है फिल्म की कहानी, जो आज के परिपेक्ष्य...

और पढ़ें

स्त्री की सशक्तिकरण की कहानी

फिल्मी दुनिया हमेशा बच्चो से लेकर बुजुर्गो तक सभी को प्रभावित करती है ।और मैं खुद पिक्चर देखने की बहुत शौकीन थी।हालांकि तब दूरदर्शन पे दो दिन ही फिल्में दिखाई जाती थी जो हम बड़े चाव से देख करते थे।। मेरी कई पसंदीदा फिल्म...

और पढ़ें