टैग : community of hindi writer

वो मंज़र- Story by Archana Saxena

आज फिर वही समां वही मंजर था। प्रायः सभीको सुहानी लगने वाली बारिश रीति को अब डरावनी लगती थी। एक समय था जब बारिश का मौसम उसका मनपसंद मौसम हुआ करता था। बचपन से पानी में कागज की नाव तैराती आई रीति किशोरावस्था में आते आते बारिश के मौसम...

और पढ़ें