टैग : Father's Day

माय फादर, माय हीरो

हर बच्चे के लिए उसके पापा किसी हीरो से कम नहीं होते। अक्सर बच्चे जब कभी अपने पापा का जिक्र आपस में करते हैं तो अपने पापा को सुपर हीरो की तरह प्रस्तुत करते हैं। बचपन से ही बच्चे अपने पापा को घर के कुछ विशेष...

और पढ़ें

बच्चो के व्यक्तितव को कैसे निखारे

हर मां-बाप अपने बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए सपने देखते हैं। इसके लिए वे जितना संभव हो सकता है, उतनी सुविधाएं बच्चों को देते हैं। बच्चे के बेहतर भविष्य के लिए और उन्हें सेल्फ इंडिपेंडेंट बनाने के लिए अच्छा स्कूल, अच्छा खान-पान,...

और पढ़ें

मेरे पापा मेरा अभिमान

हमारे घर में मेरे पापाभाईयो में सबसे बड़े भाई है।उनकी कोई बहन नहीं थी।  जब मेरा जन्म हुआ था। पापा की खुशी का ठिकाना नहीं था।वो सात दिन तक हास्पीटल  में ही मम्मी के साथ थे। जब में एक साल की थी अचानक मेरी तबियत बिगड़ी...

और पढ़ें

पितृ देवो भव:

पिता स्वर्ग:, पिता धर्म:, पिता परमकं तप:। पितरि प्रीतिमापन्ने  सर्वा: प्रीयन्ति देवता: ।। अर्थात मेरे पिता मेरे स्वर्ग, मेरे पिता मेरे धर्म है, वह मेरे जीवन की परम तपस्या है। जब वह खुश होते हैं तब सभी देवता खुश...

और पढ़ें

मेरे पापा मेरे हीरो

नीलू ने मोबाइल खोला तो सभी जगह फादर्स डे की ही बधाइयों के मैसेज थे उसने फिर पापा को फोन लगाया फ़ोन स्विच ऑफ था। आज उसे पापा की बहुत याद आ रही थी शादी के बाद यह पहली बार था कि फादर्स डे के अवसर पर वह पापा के पास नही थी। सुबह से कई...

और पढ़ें

छोटी के हाथों में माँ सा स्वाद

क्या आपने कभी सुना है कि एक पिता अपनी बेटी से यह कहे कि जब मैं तुम्हारे हाथ की बनी रोटी खाता हूँ तो मुझे ऐसा महसूस होता है जैसे मुझे मेरी माँ के हाथों की रोटी का स्वाद मिल गया हो…..जी हाँ, ऐसा मेरे बाबा मुझे कहते थे ।...

और पढ़ें

कविता- पिता का कद

पिता का कद मां की तुलना में है आज भी छोटा,पारिवारिक जिम्मेदारी को दोनों ने मिल जुलकर बांटा।गर्मी ,सर्दी, बरसात कुछ भी हो,पिता को रोजी कमानी ही है,मां को रोटी पकाने ही है।फिर क्यूं पिता का कद.........

और पढ़ें

पापा की जादूगरी

करिश्मा एक कामकाजी लड़की थी। उसकी शादी को 2 महीने ही हुए थे। घर में पति विशाल के अलावा सास ससुर भी रहते थे। उसकी सास सुमित्रा‌ एक घरेलू महिला थी। जो बहू के आने के बाद भी कामकाज में पूरा सहयोग करती थी।संडे का दिन था।...

और पढ़ें

मेरे पापा असली हीरो हैं

वीरसिंह कुम्हार हरियाणा -  दिल्ली बॉर्डर से सटे एक छोटे से गांव में अपनी मां,पत्नी व बेटे सोहित के साथ रहता था। पिता की आसमयिक मृत्यु के कारण बीच में ही अपनी पढ़ाई छोड़ उन्होंने अपने पुश्तैनी काम...

और पढ़ें

मेरे पापा, मेरे हीरो

"मेरे पापा मेरे हीरो" सभी बच्चों के लिए उनके पापा हीरो होते है मेरे बच्चों के लिए भी उनके पापा किसी हीरो से कम नहीं है | मेरे पापा  एक साधारण व्यक्तित्व के स्वामी है | मेरे पापा एक जमींदार परिवार से ताल्लुक रखते है पापा अपने...

और पढ़ें