टैग : Munshi Premchand

मैं निर्रथक रूढ़ियों व व्यर्थ के बंधनों का दास नहीं : मुंशी...

आधुनिक हिंदी साहित्य के पितामह कहे जाने वाले मुंशी प्रेमचंद जी को उनके जन्मदिन पर नमन व श्रद्धांजलि ।  साहित्य के क्षेत्र में प्रेमचंद का...

और पढ़ें

मुंशी प्रेमचंद के यह तीन महिला किरदार

जब हम हिंदी साहित्य की बात करते हैं, तो मुंशी प्रेमचंद का ज़िक्र न हो ऐसा तो हो ही नहीं सकता। सालों बाद भी उनकी कहानियां और उपन्यास लोगों को प्रेरित करते हैं। मुंशी प्रेमचंद की कहानियों में ग्रामीण जीवन के साथ ही महिलाओं को भी...

और पढ़ें