टैग : #MyFirstPeriod

तुम्हारी बेटी बडी़ हो गई

विशाल रोज की तरह रिया को स्कूल के लिए जगाने उसके कमरे में गया लेकिन कमरे की लाइट बन्द करके वापस लौट गया |हॉल में बैठा विशाल अपनी स्वर्गीय पत्नी रोमा की तस्वीर हाथ में लेकर उससे बातें करने लगा और कहने लगा -

और पढ़ें

बड़े होने का राजपर्व

"अरे पिंकी, तुम्हारी बहन रिंकू नहीं दिख रही है कई दिनों से? छुट्टी से आई नहीं गांव से.. स्कूल तो शुरू हो गए हैं ना?" "अरे भाभी! वो बड़ी हो गई है ना.. तो त्यौहार है उसका" राजपर्व ", माँ भी रह गई साथ में " "अरे धीरे...

और पढ़ें

पहली बार

बात तब की है जब मैं आठवीं या नवीं कक्षा में थी ,अच्छे से याद नहीं पर तब बड़ी मस्तमौला ,खुशमिजाज और अपनी मस्ती में मस्त थी  । खुशमिजाज तो आज भी हूँ पर उस दिन एक जो अनुभव हुआ वो हर लड़की को पहली बार तो होता है । हाँ ,समय...

और पढ़ें

मैं डाँस नहीं करूँगी मम्मा!

 पलक बहुत परेशान थी ।वह समझ नहीं पा रही थी कि क्या करें ?हारकर उसने अपनी मम्मी से मदद माँगी।" मम्मा!मैं इस  साल डाँस कंपटीशन में भाग नहीं लूँगी।"" क्यों बेटा ?तैयारी नहीं हुई क्या?"" तैयारी हुई है मम्मा...

और पढ़ें

रिक्शावाला

गीतिका के पापा को ऑफिस  जाने के लिये देर हो रही थी । इसलिए रोज की तरह गीतिका को साथ नहीं ले गए । उसने भी कह दिया "कोई बात नहीं पापा ,मैं रिक्शा से चली जाऊँगी"।  रिक्शा में तीन सवारी थी...

और पढ़ें

मैं किसी से कुछ नहीं कहूँगा

 "विधि !चलो बाहर चलते हैं ।गेम्स टाइम है।फिर क्लासेज शुरू हो जाएँगी।" राहुल ने विधि को उदास देखा।"और तुम उदास क्यों हो ?आज तो टेस्ट भी नहीं।" राहुल हँस पड़ा।" क्या राहुल तुम भी? हमेशा तंग करते हो तुम ।जाओ मेरी तबीयत...

और पढ़ें

एक सुरक्षा का एहसास

राहुल अपनी गली का सबसे होनहार और होशियार लड़का था।पढ़ाई में अव्वल आने वाले राहुल की बस एक ही कमी थी कि वो बेहद बिगड़ैल भी था।सब बातों में अच्छा होने की वजह से उसकी बदमाशियों को परिवार वाले नज़र अंदाज़ कर देते थे ।  कभी...

और पढ़ें

मासिक धर्म की विभिन्न भ्रान्तियाँ

मासिक धर्म की विभिन्न भ्रांतियों...... मासिक धर्म को लेकर समाज में आज भी तरह-तरह की गलतफहमियां प्रचलित हैं।  मासिक धर्म के समय महिलाओं को तरह-तरह की समस्याओं से गुजरना पड़ता है। एक अच्छी भली महिला अपने ही घर में...

और पढ़ें

यादगार पल

     मुझे आज भी याद है, जून का महीना था, स्कूल की छुट्टियाँ चल रही थी। मैं हमउम्र बच्चों के साथ खेलकूद में मस्त रहती थी पर उस दिन सुबह से ही बहुत सुस्ती और कमज़ोरी लग रही थी।      मम्मी-पापा...

और पढ़ें

मुझे बीमारी हो गई है

दुर्गा पूजा का त्योहार था। राधा, गांव से दुर्गा पूजा का उत्सव देखने शहर अपने बुआ के घर गई थी। राधा की उम्र बारह साल थी और बुआ की लड़की मीरा उसकी हमउम्र थी इसलिए वो मीरा से मिलने के लिए भी बहुत उत्साहित...

और पढ़ें