Tag : #no more body shaming

काली ओ काली

" काली ओ काली " हाँ इसी नाम से तो बस्ती के सभी बच्चे उसे चिढ़ाते थे। और वो मासूम तब उन बच्चों को अपनी बड़ी - बड़ी आंखों से दूर तक...

Read More

तुम्हारा साथ

नूपुर छोटे से कस्बे में रहने वाली साधारण मां-बाप की साधारण सी लड़की है। कद छोटा था, साधारण नेननक्स थे, तो सभी उसे नाटी कहकर चिढ़ाते।...

Read More

हाय हाय तू कितनी दुबली है

लेकिन समाज में हर दूसरा व्यक्ति लल्ली बुआ की तरह है ....हर हाल में असंतुष्ट।

Read More

क्या शादी जरूरी है?

आज किसी का भी खाने का मन नही था। घर मे उदासी छाई थी। और सबसे ज्यादा उदास और दुखी थी रिया। आज फिर लड़के वालों ने उसे रिजेक्ट कर दिया...

Read More

हाइट छोटी हैं लेकिन सपने बहुत बडे़ हैं

पाखी ने 12 th के बाद कॉलेज में एडमीशन लिया था और आज उसके कॉलेज का पहला दिन था |अपनी दादी के द्वारा कॉलेज के बारे में पूछने पर पाखी...

Read More

अपने पर शर्मिंदा क्यों होना?

शरीर हमारे वजूद का एक में एक अहम हिस्सा है लेकिन इसके अलावा हमारी भावनात्मक मजबूती, हमारे विचार ,हमारे काम के तरीके से बहुत मायने...

Read More

तू है मेरी फनटसी

फिल्मों और मोडल्लिंग की दुनिया दुबली-पतली, साइज़ ज़ीरो वाले फिगर वाली कमसीन हसीनाओं के लिए विख्यात है। थोड़ा सा वजन क्या बढ़ा, कई हीरोइनों...

Read More

हमें कुछ नहीं चाहिए

हमें कुछ नहीं चाहिए ,बस आप बारातियों का स्वागत पूरी गर्मजोशी के साथ कीजिएगा। जिससे हमारी बिरादरी में इज्जत बढ़ जाएगी। ऐसा कहना था...

Read More

रंग की काली हूं मन की नहीं

आज लक्ष्मी को लड़के वाले देखने आ रहे थे। घर में चिंता का माहौल था कि इस बार भी लड़के वाले उसे पसंद करेंगे या नहीं। ऐसा नहीं कि उसमें...

Read More

मैं सबसे अलग हूं

तीसरी कक्षा में लखन का एडमिशन जब मेरी क्लास में हुआ तो मुझे देखने में वह कुछ असामान्य सा लगा। कक्षा के सभी बच्चों से कद काठी में वह...

Read More