टैग : Period talk

पीरियड्स पर शोएब ने अपने मेल फैंस को खास मैसेज दिया

पीरियड से भरे दिन ऊफ ! कितने तकलीफ भरे दिन होते हैं महिलाओं व लड़कियों के लिये | ऊपर से दकियानूसी बातें ………अचार मत छुओ  , मंदिर मत जाओ , पापड़ को हाथ मत लगाओ वगैरह वगैरह ....आज के समय में पीरियड्स को लेकर...

और पढ़ें

कामाख्या मंदिर और माहवारी

मासिकधर्म एक स्त्री की पहचान है वह एक औरत को पूर्ण स्त्रीत्व प्रदान करता है इसके बाद भी हमारे समाज में कहीं न कहीं मासिकधर्म के दौरान स्त्री को अपवित्र माना जाता है उन कठिन दिनों में महिलाओं को धार्मिक कार्य पूजा पाठ से दूर रखा...

और पढ़ें

चलो पीरियड्स पर बात करते हैं ये कहना है राजस्थान रॉयल्स...

हमारे समाज में अक्सर हमने मासिकधर्म पर लड़कियों और महिलाओं को ही आपस में बात करते देखा है वे अपनी समस्यायें आपस में ही सांझा करती हैं मासिक धर्म जो कि हर लड़की व महिलाओं को होता है उस दौरान उनमें हार्मोनल बदलाव भी होते हैं जिससे...

और पढ़ें

क्या है ...पीसीओएस और पीसीओडी

समय पर पीरियड्स ना आना, हर समय थकान रहना, शरीर में भारीपन महसूस करना और तनाव रहना कुछ ऐसे सामान्य लक्षण हैं, जो पीसीओएस या पीसीओडी से ग्रसित महिलाओं में देखने को मिलते हैं।पीसीओएस और पीसीओडी एक ही बीमारी के...

और पढ़ें

वो लाल रंग

*ये लाल रंग* लाल रंग जुड़ा है किस्मत के साथ , ये बात नहीं है किसी के हाथ।  मेहंदी ,बिंदी ,चूड़ी और सिंदूर,  सभी का मनभावन रंग है लाल।  पूर्ण बनाते हैं ये...

और पढ़ें

सेनेटरी पैड - एक टैबू -जिसका ज़िक्र लाल क़िले की प्राचीर...

अब जबकि भारत दुनिया भर में एक मजबूत आर्थिक शक्ति के रूप में पहचाना जाने लगा है, यहां अब भी कुछ मुद्दों को लेकर समाज की सोच बहुत रू‍ढ़ि‍वादी है। माहवारी एक प्राकृतिक शारीरिक प्रक्रिया है और देश की आधी आबादी हर...

और पढ़ें

मेनोपोज़ समस्या नहीं

आजकल नीलम के बर्ताव से घरवाले परेशान रहते है। कोई समझ नहीं पा रहा था नीलम की उलझन, ना नीलम समझा पा रही थी की उसे क्या हो रहा है। पैंतालीस साल की नीलम वैसे तो खुश मिज़ाज ओर हल्के फुल्के ख़याल वाली है, पर अचानक से कभी रोने...

और पढ़ें

इंडिया के पास पैडमैन है

2018 में बनी फ़िल्म पैडमन भारतीय हिंदी जीवनी कॉमेडी-ड्रामा फिल्म है जिसमें मुख्य भूमिकाओं में अक्षय कुमार, सोनम कपूर औरराधिका आप्टे हैं।अमिताभ बच्चन विशेष भूमिका । यह फिल्म अरुणाचलम मुरुगनथम की वास्तविक जीवन की कहानी से प्रेरित...

और पढ़ें

पी. सी. ओ. डी , से न घबराना.......

रीना जब तेरह बर्ष  की तो उसकी महावारी शुरू हो गयी थी शुरू के दो बर्ष तक ठीक चला जैसे सभी लडकियों को होता है फिर उसके पीरियड्स कभी एक महीने बाद कभी दो महीने बाद आते, रीना को अपना शरीर थका थका लगता उसका वजन भी बढने लगा उसको...

और पढ़ें

पीरियड में दर्द को दूर भगाये ये 5 घरेलू नुस्ख़े

पीरियड्स का दर्द हर महिला के लिए अलग होता है. पीरियड्स में न केवल पेट में दर्द रहता है बल्क‍ि पैर और पीठ में भी काफी तकलीफ बनी रहती है।आजकल की अस्त-व्यस्त लाइफस्टाइल का असर महिलाओं के पीरियड्स पर भी पड़ता है। इस...

और पढ़ें