टैग : Shiv vivah

कविता -शिव विवाह

भोले संग ब्याह रचाने को,कैलाश पर घर बसाने को,गौरा हो रहीं अति आतुर ,भोले संग लेने को भांवर। यही प्रतिज्ञा है उनकी,हल्दी लगे शंकर के नाम की,मेहंदी भी नटराज नाम की,चूड़ी सजे कैलाशपति नाम...

और पढ़ें