टैग : #short stories

माँ मुझे मत मारो

 "माँ! मुझे मत मारो ।मैं तो तुम्हारा ही अंश  हूँ और कोई मुझे पसंद करे ना करे पर तुम तो मुझे प्यार करती हो ना! बताओ ना !""हाँ बेटा !मैं तुझे बहुत प्यार करती हूँ।आ जाओ मेरी गोद में मुझसे खेलने के लिए।"

और पढ़ें

मम्मा आप डरते हो...

आज छत पर अंधेरी रात में टहलते हुए नैना को केवल उसके सात साल के बेटे रूद्र द्वारा पूछा गया सवाल उसके कानों में गूंज मानो उसके दिल की धड़कनें बढ़ा रहा था|"मम्मा आप डरते हो क्या पापा से???" "नहीं तो...क्यों...

और पढ़ें

अंतर्मन

"कहाँ जा रहे हो बेटा ?""कुछ नहीं माँ! बस आ रहा थोड़ी देर में ।""जल्दी आना।" पंकज  ने माँ से कह तो दिया पर वह खुद  नहीं जान पा रहा था कि उसे कहाँ जाना है ?उसका दिमाग सवालों के जाल में ऐसा फँसा था कि उसे कुछ समझ में नहीं...

और पढ़ें

सरदार जी

सरदार जी नमस्ते दोस्तों, आज  मैं आपको  एक ऐसी  कहानी सुनाने वाली  हूँ, जो मेरे बचपन  की  है।  तो ये कहानी  कुछ २० साल  पहले की है, मे करीब 10 साल  की  हुआ करती...

और पढ़ें

ससुराल में पहली सुबह !

बर्तन गिरने की आवाज़ से शिखा की आँख खुल गयी। घडी देखी तो आठ बज रहे थे , वह हड़बड़ा कर उठी। “उफ़्फ़ ! मम्मी जी ने कहा था कल सुबह जल्दी उठना है , ””””रसोई”””” की...

और पढ़ें

मामी आज खाने में क्या है ?

नानी नाना के घर की जीवित कहानियाँ हम सबको याद रहती हैं। खासकर की मई जून का महीना जैसे ननिहाल के लिए ही होता है। दादा दादी का साथ बहुत जल्दी छूट गया। उनका लाड प्यार कैसा होता है , इसकी ज़रा भी अनुभूति नहीं। मगर ईश्वर इतना निर्दयी...

और पढ़ें

माँ मुझे माफ़ करना ! (लघु कथा )

माँ आज इस छोटे से खत में तुमसे माफ़ी माँगना चाहती हूँ। जानती हूँ ,तुम सोचोगी की माफ़ी क्यों ? हर सुबह जब मेरे स्कूल के लिए तुम लंच बॉक्स पैक करतीं थी ,तुम्हारे हाथ के बने वो नरम नरम पराठों की कीमत तब ना समझ पाने के लिए मुझे माफ़...

और पढ़ें