# Thursday poetry challenge / मुलाकात

# Thursday poetry challenge / मुलाकात

   चलो आज हम चिठ्ठी लिखते है,                                  अपने लिए ना सही,                                                  दूसरों के लिए लिखते है,                                            लिखते है हम उसमें सारे जज्बात,                              जो कभी खाली थे दिल के आईने में,                          उन खाली पन्नों को एक नई कलम से लिखते है,          लिखेंगे हम उसमें अपने पहले प्यार के,                         एहसास के बारे में,                                                     जिसे हमने भी कभी चाहा है शिद्दत से,                       ना मांगा कुछ हमने तुमसे,                                         क्योंकि जब मैं तुमसे पहली बार मिली,                       तो मैं तुमसे यही कहना चाहती थी,                            कि मैं जब भी तुमसे मिली,                                        तो हर बार ऐसा लगा,                                               कि मैं तुमसे पहली बार मिली हूँ,                                  हमेशा की तरह|

What's Your Reaction?

like
0
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0