योनि संक्रमण के कारण और घरेलू देखभाल -

योनि संक्रमण के कारण और घरेलू देखभाल  -

"सफ़ाई का ध्यान रखें संक्रमण से बचें"


हर लड़की हर औरत को अपने तन को साफ़ सुथरा रखना चाहिए ठंडी गर्मी या बारिश मौसम कोई भी हो अपना असर हमारे हर अंग पर छोड़ जाता है। खासकर महिलाओं को अंगत पार्ट की सफ़ाई पर ज़्यादा ध्यान देना चाहिए ताकि किसी भी तरह के संक्रमण से बचाया जाए।


योनि को रेग्युलर दिनों के साथ-साथ पिरियडस के दिनों में साफ और सूखा रखना सबसे ज्‍यादा जरूरी है। वेजाइना की सफाई ही आपको वेजाइनल इंफेक्शन से बचा सकती है। वॉशरूम का इस्‍तेमाल करते समय हमेशा साफ-सफाई का ध्‍यान रखें। पीरियड्स के दौरान समय-समय पर बदलते रहना चाहिए। योनि हाईजीन का ख्याल न रखने पर कई सारी बीमारियां हो सकती हैं। प्राइवेट पार्ट से दुर्गंध आना, यूटीआई की समस्या भी प्राइवेट पार्ट की सही साफ सफाई न रखने की वजह से होने वाली समस्या है।


पीरियड के दौरान महिलाओं को कम से कम 5 से 7 घंटे के बीच में पैड चेंज करना हे चाहिए अगर पैड्स का इस्तेमाल लंबे समय तक किया जाएगा तो प्राइवेट पार्ट में रैशेज और स्किन इन्फेक्शन की समस्या सामने आ सकती है। इससे दुर्गंध की भी शिकायत हो सकती है।


मानसून का मौसम गर्मी से राहत देता है, लेकिन यह मौसम महिलाओं के लिए कई तरह के इंफेक्शन और बीमारियों को लेकर आता है। मानसून के मौसम में महिलाओं को अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए। महिलाओं को इस मौसम में सबसे ज्यादा वजाइना के साफ-सफाई में ध्यान देने की जरूरत होती है।


बरसात के मौसम में उमस और नमी ज्यादा होती है, जिसकी वजह से बैक्टीरिया, कीटाणुओं का प्रकोप बढ़ जाता है। महिलाओं में कई बार इंफेक्शन की वजह भी यही होता है। महिलाओं को इस मौसम में सबसे ज्यादा वजाइना के साफ-सफाई में ध्यान देने की जरूरत होती है।


मानसून के दौरान होने वाली सबसे आम समस्या वजाइना कैंडिडिआसिस है, जो फंगल इंफेक्शन की वजह से होता है। जरूरत से ज्यादा डिस्चार्ज और सेक्स के समय दर्द होना इसका प्रमुख लक्षण हो सकता है। फंगल इंफेक्शन से एंटी-फंगल क्रीम के उपयोग से आसीनी से ठीक हो जाती है।


मानसून का मौसम हो या गर्मी का हमेशा ध्यान रखें कि जब नमी आपके वजाइना के आस-पास बनी रहेगी तो उतना ही इंफेक्शन का भी डर रहेगा। इसलिए सूती अंडरगारमेंट पहनें और इसे आदत में लाए। सूती अंडरगारमेंट नमी को सोख लेते हैं और हवा का संचार आसानी से होता है। किसी कारण से अगर अंडरगारमेंट गीला हो जाता है तो इसे तुरंत बदल दें। साथ ही सेक्स करने के बाद आप अपनी वजाइना की विशेष साफ-सफाई करें यह इंफेक्शन की संभावना को कम कर देता है।


कंडोम के प्रयोग से वजाइना का पीएच लेवल बना रहता है। सेक्स करते समय सुरक्षा का उपयोग हमेशा लाभदायक होता है। यह कई तरह के संक्रमण को फैलने से रोकता है।


अगर योनि के अंदर जलन या खुजली होती है तो उसे नज़र अंदाज़ बिलकुल ना करें तुरंत डाॅक्टर से संपर्क करें और वजह जानकर उपाय करें।


(भावना ठाकर, बेंगुलूरु)#भावु

What's Your Reaction?

like
1
dislike
0
love
0
funny
0
angry
0
sad
0
wow
0